भारतीय क्रिकेट के 3 खास सितारे जिन्होंने विदेशी धरती पर लहराया तिरंगा

indian Cricketers
Instagram/ Kuldeep Yadav

भारतीय बल्लेबाज या गेंदबाज दोनों ही तरह के खिलाड़ी अपने-अपने क्षेत्र में हमेशा से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते आए हैं यही वजह रही है कि भारतीय टीम विश्व की सफलतम टीमों की सूची में हमेशा बरकरार रहती है.

घरेलु परिस्थिति हो या फिर विदेशी धरती पर कोई मुकाबला हो, भारतीय टीम ने पिछले कुछ वर्षों से दमदार प्रदर्शन किया है. टीम इंडिया की इस सफलता के पीछे भारतीय गेंदबाजों का बहुत बड़ा योगदान रहा है.

खासकर विदेशी धरती पर जब भी टीम इंडिया ने कोई मैच खेला, वहाँ विरोधियों के मुकाबले टीम की गेंदबाजी 20 ही साबित हुई है. गेंदबाजों के इस शानदार प्रदर्शन में भारतीय स्पिनर का बड़ा रोल रहा है..

ऐसे में भारतीय टीम के 3 दिग्गज गेंदबाजों के विदेशी जमीन पर किए गए शानदार प्रदर्शन पर डालते हैं एक खास नज़र

अनिल कुंबले

भारतीय टीम के पूर्व मुख्य कोच अनिल कुंबले के गेंदबाजी का बड़े-बड़े बल्लेबाज भी लोहा मानते थे
उन्होंने भारत के लिए विदेशी धरती पर कुल 69 टेस्ट मैच खेले , 269 विकेट हासिल किये .

उन्होंने अपने करियर के 132 टेस्ट मैचों में 619 लोगों को अपना शिकार बनाया हैं.

कुंबले शेन वॉर्न और मुथैया मुरलीधरन के बाद विश्व में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले तीसरे गेंदबाज है.और यह किसी भी गेंदबाज के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है.

अमित मिश्रा

आज भले ही अमित मिश्रा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से दूर है लेकिन टीम में रहते हुए उन्होंने अपनी गेंदबाजी से अच्छे-अच्छे बल्लेबाजों के छक्के छुड़ाए हैं.

अमित मिश्रा ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में भारत की ओर से 22 टेस्ट मैच खेले हैं जिसमें 10 टेस्ट मैच में उन्होंने विदेशी धरती पर खेले हैं जहां उनका औसत काफी अच्छा रहा है

इस अनुभवी लेग स्पिनर का बेस्ट प्रदर्शन 72 रन देकर 7 विकेट हैं. आंकड़े मिश्रा की विदेशी धरती पर अधिक परिपक्वता को दर्शाते हैं

कुलदीप यादव

उत्तर प्रदेश के कानपुर के रहने वाले कुलदीप यादव ने अपने स्पिन के जादू से ना जाने कितने ही विदेशी खिलाड़ियों को चकमा दिया है.

भारतीय जमीन में टेस्ट मैचों के दौरान उनका प्रदर्शन काफी अच्छा रहा है और यही प्रदर्शन उन्होंने विदेशी धरती पर भी बरकरार रखा है.

उन्होंने अब तक खेले गए सात टेस्ट मैचों में 23 विकेट चटकाए हैं.

हालांकि इस समय भारतीय टीम की प्लेइंग इलेवन में अपनी जगह बनाने में सफल नहीं हो पा रहे हैं.

यह भी पढ़े : तीन बल्लेबाज़ जिन्होनें वनडे कप्तान रहते खेली है सबसे बड़ी पारी, जानें