वनडे डेब्यू मैच में शतक जड़कर धूम मचाने वाले 5 खिलाड़ी

One dayDebut Player
Credit - Instagram / KL Rahul

क्रिकेट जगत में नए रिकॉर्ड बनाना कोई आम बात नहीं है लेकिन अपने डेब्यू मैच में ही शानदार प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों की सूची क्रिकेट प्रेमियों के हृदय में खास स्थान रखती है.

आज हम उन्हीं खिलाड़ियों के बारे में बात करेंगे जिन्होंने अपने डेब्यू मैच में ही शतक जड़कर दर्शकों के होश उड़ा दिए-

के.एल. राहुल

भारत के सलामी बल्लेबाज़ के एल राहुल ने जिम्बाब्वे के खिलाफ अपने वनडे डेब्यू मैच में 115 गेंदों में सात चौंकों और एक छक्के की मदद से नाबाद 100 रन की पारी खेली थी.

राहुल की इस पारी से पहले भारत की ओर से अपने डेब्यू वनडे में सबसे बड़ी पारी का रिकॉर्ड रॉबिन उथप्पा के नाम था

जिन्होंने 2006 में इंग्लैंड के खिलाफ अपने पहले मैच में 86 रनों की पारी खेली थी.

आबिद अली

आबिद अली पाकिस्तान के 32 वर्षीय सलामी बल्लेबाज़ हैं

मार्च 2019 में आबिद ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दुबई में एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण पर 112 रन की पारी खेली थी.

आबिद उन 15 बल्लेबाजों में शामिल हैं जिन्होंने वनडे में पदार्पण पर सैकड़ा जड़ा, लेकिन इनमें से कोई भी अन्य अपने पहले टेस्ट मैच में शतक नहीं लगा पाया.

आबिद टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण पर शतक जड़ने वाले 11वें पाकिस्तान बल्लेबाज हैं.

मार्क चैपमैन

हांगकांग के मार्क चैपमैन अपने डेब्यू वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट मैच में शतक जड़ने वाले दुनिया के दसवें बल्लेबाज है.

बाएं हाथ के बल्लेबाज चैपमैन ने अपने डेब्यू मैच में 116 गेंदों पर दो छक्कों और 11 चौकों की मदद से नाबाद 124 रन बनाए थे.

चैपमैन हांगकांग की तरफ से वनडे में शतक जड़ने वाले पहले बल्लेबाज है.

इमाम उल हक

पाकिस्तान के युवा बल्लेबाज इमाम उल हक़ का नाम भी इस सूची में शामिल है

पाकिस्तान के लिए पहला मैच खेलते हुए अबुधाबी में इमाम ने 100 रनों की पारी खेली थी.इस दौरान उन्होंने 125 गेंद का सामना किया.

पाकिस्तान की सात विकेट से जीत में इमाम का यह शतक काफी अहम साबित हुआ.इस पारी के कारण ही उन्हें आगे चलकर पाकिस्तान की टेस्ट टीम में जगह मिली.

सलीम इलाही

पाकिस्तान के बेहतरीन खिलाड़ी सलीम इलाही ने श्रीलंका के खिलाफ 1995 में अपना वनडे डेब्यू किया था.

गुजरांवाला में खेले गए इस मैच में उन्होंने बतौर ओपनर नाबाद 102 रन बनाए थे,इस मैच में पाकिस्तान को 9 विकेट से जीत मिली थी.

डेब्यू वनडे में इस तरह की शुरुआत के बाद भी उन्हें ज्यादा खेलने का मौका नहीं मिला और वे करियर में 48 एकदिवसीय मैच खेल पाए,इस दौरान उन्होंने चार बेहतरीन शतक भी जड़े थे.

यह भी पढ़े : दक्षिण अफ्रीका का भारत दौरा हुआ स्थगित, आईपीएल का आयोजन बना बड़ी वजह