Ind vs Eng: पंत के कोरोना पॉजिटिव होने की बड़ी वजह सामने आई, जानें पूरी खबर

ind vs eng
image credit: twitter

Ind vs Eng: भारत-इंग्लैंड टेस्ट सीरीज से पहले कोरोना की दस्तक पड़ गई. गुरुवार (15 जुलाई) को टीम इंडिया के स्टार विकेटकीपर ऋषभ पंत कोविड-19 से पॉजिटिव पाए गए. उसके बाद कल शाम को ही थ्रोडाउन विशेषज्ञ दयानंद जारानी भी कोरोना से संक्रमित पाए गए. दरअसल डब्ल्यूटीसी के फाइनल में न्यूजीलैंड से हारने के बाद से टीम इंडिया ने तीन हफ्ते का ब्रेक लिया था. इस दौरान भारत के कई खिलाड़ी ब्रिटेन की अलग-अलग जगहों पर घूमने भी गए.

कोचिंग स्टाफ और खिलाड़ी को किया गया आइसोलेट

इंग्लैंड में कोरोना के मामलों ने हाल के दिनों में काफी तेजी पकड़ी है और भारतीय खिलाड़ियों का यूके में बाहर घुमने से कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ गया था, और कुछ ऐसा ही हुआ. दोनों कोविड-19 से पीड़ित सदस्य (ऋषभ पंत और दयानंद) के अतिरिक्त गेंदबाजी कोच भरत अरुण, रिजर्व विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा (Wriddhiman Saha) और स्टैंडबाय सलामी बल्लेबाज अभिमन्यु ईश्वरन को भी अभी पृथकवास में रखा गया है. ये तीनों दयानंद के संपर्क में आये थे.

डेंटिस्ट के पास गए थे पंत

कोरोना जैसी गंभीर संक्रमण का स्त्रोत को ट्रैक कर पाना मुश्किल है, लेकिन माना जा रहा है कि ऋषभ पंत डेंटिस्ट (दांतों का डॉक्टर) के पास गए थे. वही उन्होंने इस खतरनाक वायरस को गले लगा लिया है. 8 दिनों से ही भारत का ये स्टार विकेटकीपर अपने दोस्त के घर पर क्वारंटीन कर रहा है.

अंग्रेजी अख़बार टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट की माने तो 5 और 6 जुलाई को ऋषभ पंत डेंटिस्ट के पास गए थे. इसी दौरान उनके अलावा टीम इंडिया के अन्य खिलाड़ियों और सपोर्ट स्टाफ ने कोविड-19 वैक्सीन का दूसरा डोज लगाया था.

वेम्बले में देखने गए थे फुटबॉल मैच

7 जुलाई को पंत ने कोविड वैक्सीन का डोज लगवाया था. 5 और 6 जुलाई को डेंटिस्ट के पास गए ऋषभ पंत वही कोरोना संक्रमण का शिकार हो गए होंगे. उसके बाद पंत को यूरो 2020 टूर्नामेंट के दौरान लंदन के वेम्बली स्टेडियम में अपने कुछ दोस्तों के साथ देखा गया था जब इंग्लैंड ने टूर्नामेंट के ग्रुप चरण में जर्मनी का सामना किया था.

बीसीसीआई के सचिन जय शाह ने आधिकारिक बयान में कहा, “पंत ब्रेक के दौरान टीम होटल में नहीं थे. वह आठ जुलाई को कोरोना पॉजिटिव पाये गए. हालाँकि उनमें कोई लक्षण नहीं है और वह स्वस्थ हैं. वह वही आइसोलेशन में हैं. जहां कोरोना संक्रमित हुए थे. बीसीसीआई की मेडिकल टीम उनकी निगरानी कर रही है और वह अच्छे से रिकवरी कर रहे हैं. वह दो नेगेटिव आरटी पीसीआर टेस्ट आने के बाद ही डरहम में टीम से जुड़ेंगे.”

ये भी पढ़ें: Tokyo Olympics – सिन्धु ने की मन की बात, कहा- “ब्रेक ने उन्हें बेहतर खिलाड़ी बनाया”