कप्तान कोहली द्वारा इन 3 गलतियों को दोहराने से दोबारा हार का सामना कर सकती है टीम इंडिया

Credit - Twitter

विराट कोहली की कप्तानी में निराशाजनक प्रदर्शन करने के कारण वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में भारत को न्यूज़ीलैंड के खिलाफ 8 विकेट से हार का सामना करना पड़ा था.

और तभी से लगातार कप्तान कोहली की गलतियां उजागर होती जा रही है और ऐसा माना जा रहा है कि आने वाले समय में इंग्लैंड के खिलाफ वे इन 3 गलतियों से सबक लेकर इनको सुधारने का प्रयास करेंगे.

मोहम्मद सिराज को न रखे मैदान से बाहर

मोहम्मद सिराज ने ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान टेस्ट डेब्यू किया था और अपनी शानदार गेंदबाजी से हर किसी को हैरान कर दिया था.

इंग्लैंड के खिलाफ भारत में हुई टेस्ट सीरीज में उन्होंने अच्छी गेंदबाजी की. उम्मीद थी कि उन्हें वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में मौका जरूर मिलेगा, लेकिन फाइनल के दौरान वो मैदान के बाहर ही रहे. सिराज ने महज 5 टेस्ट मैचों में 16 विकेट हासिल किए हैं.

ऐसे में कप्तान से उम्मीद की जा सकती है कि आगामी सीरीज में वो सिराज को उनका खेल निखारने का भरपूर मौका देंगे.

युवाओं को न करे दरकिनार

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे से काफी उम्मीदें थी जो टूट गईं. पुजारा पिछले 2 साल से शतक नहीं बना पाए हैं, वहीं रहाणे ने आखिरी बार सेंचुरी मेलबर्न टेस्ट में लगाई थी.

ऐसे में सीनियर प्लेयर्स पर जरूरत से ज्यादा भरोसा टीम इंडिया को नुकसान पहुंचा सकती है. विराट प्लेइंग XI में केएल राहुल या मयंक अग्रवाल को फिर से मौका दे सकते हैं. 

तेज़ गेंदबाज़ की महत्वता को जाने

टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में विराट कोहली ने प्लेइंग XI में रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा को बतौर स्पिनर शामिल किया था जिसका नुकसान पूरी टीम भुगत चुकी है.

ऐसे में कप्तान से यह उम्मीद की जा रही है की वो इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज़ में दो स्पिनर के स्थान पर एक स्पिनर व एक तेज़ गेंदबाज़ को अंतिम एकादश में मौका दे सकते है.

ये भी पढ़ें: पूर्व विकेटकीपर का बड़ा बयान- टी-20 वर्ल्डकप में विराट कोहली की छोटी-सी गलती से छीन सकती है उनकी कप्तानी