World’s laziest cricketers: रोहित शर्मा से क्रिस गेल तक – देखें सबसे आलसी खिलाड़ियों की लिस्ट

10 Laziest Cricketers
Instagram / Chris Gayle

क्रिकेट चुस्ती और फुर्ती का खेल हैं एक छोटी सी गलती न केवल खिलाड़ी बल्कि पूरी टीम के लिये मुसीबत खड़ी कर सकती हैं और महेंद्र सिंह धोनी तो फुर्ती के मामले में सबसे आगे हैं

लेकिन वहीं दूसरी ओर कुछ ऐसे भी खिलाड़ी हैं जो इस खेल में अपने आलसी व्यवहार के कारण भी काफी चर्चा में रहते हैं.

तो आईये जानते हैं विश्व के 10 आलसी खिलाड़ियों के बारे में-

इंजमाम उल हक

पाकिस्तान के इस बेहतरीन बल्लेबाज को मैदान पर दौड़ लगाना कितना नापसंद था ये सभी जानते हैं. वनडे मैचों में 40 रन आउट उनकी खराब रनिंग की गवाही देते हैं.

मैदानी फिल्डिंग के दौरान भी वो अक्सर गेंद के पीछे दौड़ते थे या दूसरे फील्डरों को गेंद पकड़ने का इशारा करते दिखते थे.

रोहित शर्मा

आज भले ही रोहित शर्मा भारत के सफल बल्लेबाजों में से एक हैं और मौका पड़ने पर कप्तानी भी कमाल की करते हैं
लेकिन यदि फिटनेस की बात की जाए तो उन्हें भारतीय खिलाड़ियों में सबसे आलसी माना जाता है.

अक्सर इस बात का खामियाजा उनके साथी खिलाड़ियों को उनके साथ रनिंग के दौरान भुगतना पड़ चुका है.

क्रिस गेल

“यूनिवर्स बॉस” के नाम से मशहूर वेस्टइंडीज के विस्फोटक बल्लेबाज क्रिस गेल का नाम भी इस सूची में शामिल है
यह बात तो सभी जानते हैं कि गेल को पिच पर दौड़ दौड़ कर 1-1 रन लेना बिल्कुल पसंद नहीं है

जिस वजह से वे हमेशा ही अपने बल्ले से चौके छक्कों की बरसात करते रहते हैं.

मुनाफ पटेल

खराब मैदानी फील्डिंग का सबसे सटीक उदाहरण हैं मुनाफ पटेल. इंटरनेशनल क्रिकेट में अपनी शुरूआत करने के बाद से उनका आलसी अंदाज बढता ही गया.

नतीजा मैदान में वो हमेशा गेंद के पीछे ही भागते दिखाई दिए. उनकी पेस में भी निरंतर गिरावट दर्ज की गई.

भारत का यह पूर्व दिगज खिलाड़ी हमेशा से ही अपने आलसी स्वाभाव के लिए चर्चित था.

नासिर जमशेद

पाकिस्तान के इस सलामी बल्लेबाजों को मौजूदा दौर के सबसे खराब फील्डरों में गिना जाता है. इसके अलावा विकेटों के बीच दौड़ के मामले भी नासिर जमशेद की स्थिति काफी खराब है.

एक टैलेंटेड बल्लेबाज होने के बावजूद भी वो कई बार रन आउट होकर पवेलियन लौटते हैं.

यूसुफ पठान

यूसुफ पठान ने अपने आक्रमक अंदाज के दीवाने तो बहुत से फैन है, लेकिन क्या आपने कभी नोटिस किया है कि यूसुफ पठान की विकेटों के बीच दौड़ कितनी खराब थी.

हालांकि बल्लेबाजी के दौरान बड़े शाट खेलकर अपनी इस कमी को छुपा जाते थे. लेकिन फील्डिंग के दौरान उनकी ये कमी सबके सामने उजागर हो जाती थी.

ड्वेन लेवराक

यह खिलाड़ी अक्सर ही अपनी कद-काठी के कारण चर्चा में बना रहता था. लेवराक अपने भारी भरकम शरीर के बावजूद स्लिप में फिल्डिंग करना बेहद पसंद करते थे, क्योंकि वहां पर दौड़ना नहीं पड़ता था.

हालांकि 2007 विश्व कप में स्लिप की पोजीशन पर एक असंभव सा कैच पकड़ कर इस खिलाड़ी ने सबको हैरान कर दिया था.

शेन वार्न

दुनिया के सबसे महानतम लेग स्पिनर शेन वार्न मैदान पर अपने लेजी नेचर के कारण भी जाने जाते थे. बात चाहे विकेटों के बीच दौड़ की हो या मैदानी फील्डिंग की शेन वार्न को दौड़ना पसंद नहीं था.

बल्कि शेन वार्न गेंदबाजी एक्शन में भी दौड़ने की बजाए चहलकदमी करते हुए गेंद फेंकते थे.

नासिर जमशेद

पाकिस्तान के इस सलामी बल्लेबाजों को मौजूदा दौर के सबसे खराब फील्डरों में गिना जाता है. इसके अलावा विकेटों के बीच दौड़ के मामले भी नासिर जमशेद की स्थिति काफी खराब है.

एक टैलेंटेड बल्लेबाज होने के बावजूद भी वो कई बार रन आउट होकर पवेलियन लौटते हैं.

अर्जुन रणतुंगा

श्रीलंका को विश्व कप जीताने वाले कप्तान अर्जुन रणतुंगा भी मैदान पर सुस्त खिलाड़ियों में गिने जाते थे. विकेटों के बीच दौड़ लगाने और मैदानी फिल्डिंग दोनों में ही अर्जुन रणतुंगा की स्थिति खराब थी.

अक्सर अन्य श्रीलंकाई खिलाड़ी अर्जुन रणतुंगा की इस आदत का मजाक उड़ाते भी दिख जाते थे.

यह भी पढ़े : जानिये उन 4 भारतीय खिलाड़ियों के बारे में जो वनडे में रहे हीरो लेकिन टेस्ट में जीरो