पाकिस्तान में वकील को काटने पर ‘दो कुत्तों’ को मिली मौत की सज़ा, फैसले से हर कोई हैरान

doggy
Image credits: Unsplash

पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में अजीबोगरीब मामला सामने आया है जहां एक एक ताजा घटनाक्रम ने सभी को हैरान कर दिया है. दरअसल यहां स्थित दो पालतू कुत्तों ने सड़क से गुजर रहे एक शख्स को काट लिया, जिससे वो बुरी तरह से घायल हो गया, वो एक वकील था उसने इस घटना के बाद उन्हें सबक सिखाने के लिए कोर्ट गया और अब दोनों कुत्तों को मौत की सज़ा सुनाई गई है.

सामने आया CCTV फुटेज

इस घटना का एक सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है कि जिसमें जर्मन शेपर्ड्स नस्ल के दो कुत्ते पेशे से वकील मिर्जा अख्तर पर अटैक करते नजर आ रहे हैं. बताया जा रहा है कि बाद में कुत्तों के मालिक हुमायूं खान ने मिर्जा को बचाया और उनसे माफी भी मांगी. लेकिन तब तक मिर्जा अख्तर काफी घायल हो चुके थे, और उन्होंने इस मामले को कोर्ट ले जाने का फैसला किया.

गल्फ़ न्यूज़ के रिपोर्ट में बताया गया है कि दोषी पाए गए दोनों पालतू कुत्तों को दी गई मौत की सजा वकील और पालतू जानवर के मालिक के बीच हुए एक आउट-ऑफ-कोर्ट समझौते का हिस्सा है. वकील ने बताया कि दोनों कुत्तों ने बिना किसी उकसावे के उन पर बेरहमी से हमला किया और उन्हें घायल कर दिया.

जानकारी के मुताबिक, यह समझौता विवाद को सुलझाने के लिए वकील और कुत्ते के मालिक के बीच हुआ है. कुत्तों के मालिक हुमायूं खान ने अख्तर से माफी मांगी है और उनके ऊपर 10 लाख पाकिस्तानी रुपये का जुर्माना भी लगा है.

कुत्तों को फौरन डॉक्टर मौत की नींद सुला देंगे

दोनों के बीच कोर्ट के बाहर एक को समझौता हुआ और अख्तर ने कुत्तों के मालिक हुमायूं खान को माफी देना स्वीकार कर लिया है जिसके तहत बताया जा रहा है कि इस घटना में शामिल दोनों कुत्तों को फौरन डॉक्टर मौत की नींद सुला देंगे साथ ही खान के पास ऐसा कोई और कुत्ता होने पर वह उसे भी सौंप देंगे. इनके अलावा किसी कुत्ते को क्लिफ्टन कैंट बोर्ड के पास रजिस्टर कराना होगा और वह सड़क पर बिना हैंडलर के नहीं निकलेगा.

समझौते को अमानवीय बता रहे लोग

वहीं जानवरों से जुड़ी संस्था के लोग इस समझौते को अमानवीय बता रहे हैं, और इसका विरोध कर रहे हैं. उनका कहना है कि डॉग हैंडलर की लापरवाही की सजा बेजुबान जानवरों को क्यों दी जा रही है. इसे लेकर देश में काफी विरोध हो रहा है.

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान ने ‘ट्रांसजेंडर समुदाय’ के खोला पहला स्कूल, 18 छात्राओं ने लिया दाखिला