Benefits of Barley Water : दिन में सिर्फ एक गिलास जौ का पानी पीने से दूर हो सकती है कई बीमारियां, जानिए कैसे

Benefits of Barley Water : दिन में सिर्फ एक गिलास जौ का पानी पीने से दूर हो सकती है कई बीमारियां, जानिए कैसे
Image Source: Pexels

जौ के पानी (Barley water) का उपयोग प्राचीन काल से एक चिकित्सीय पेय के रूप में किया जाता रहा है. यह कई सामान्य बीमारियों के लिए भी एक बहुत ही प्रभावी घरेलू उपचार है. इतिहासकारों का मानना है कि प्राचीन काल में ब्रिटेन, ग्रीस और एशिया जैसी जगहों पर जौ का पानी (Barley water) होना आम बात थी. भारत में, आयुर्वेद में इसका आम रूप से उपयोग किया जाता है. एक प्राचीन उपचार चिकित्सा जो कि उप-महाद्वीप में 4000 साल से अधिक पहले उत्पन्न हुई थी. आज, अधिक से अधिक लोग सामान्य बीमारियों के प्राकृतिक समाधानों की ओर देख रहे हैं. जो लोग अपने स्वास्थ्य को प्राकृतिक तरीके से बनाए रखना चाहते हैं, उनके लिए एक गिलास जौ का पानी (Barley water) पीना सही समाधान हो सकता है. 

यह यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन के लिए एक बेहतरीन उपाय है

दिन में एक गिलास जौ का पानी (Barley water) यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन (Urinary tract infection) से बचा सकता है. यह मूत्र पथ (Urinary tract) और गुर्दे की पथरी (Kidney stone) के संक्रमण के लिए सबसे अच्छे घरेलू उपचारों में से एक है. यह एक प्राकृतिक मूत्रवर्धक भी है और आपके संपूर्ण स्वास्थ्य को भी बनाए रखने में आपकी मदद करेगा.

वजन घटाने के लिए इसका इस्तेमाल करें

मोटापा आज एक बड़ी समस्या है. जैसा कि हम सभी जानते हैं, यह घातक परिणामों के साथ कई पुरानी स्थितियों को जन्म दे सकता है. इस जोखिम को कम करने के लिए, आपको अपना वजन कम करने की जरूरत है. और, ऐसा करने का सबसे अच्छा तरीका प्राकृतिक तरीकों से है. जौ का पानी (Barley water) सुस्त चयापचय (Sluggish Metabolism) को किकस्टार्ट कर सकता है और वसा को जला सकता है. यह आपकी भूख को भी दबाता है और आपको ज्यादा खाने से रोकता है. यदि आप अपना वजन कम करना चाहते हैं तो यह महत्वपूर्ण है.

यह आपके दिल के स्वास्थ्य में सुधार करेगा

जौ में फाइबर और बीटा-ग्लूकेन्स होते हैं. नियमित सेवन से आपको अपने कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड (triglyceride) के स्तर को बनाए रखने में मदद मिलेगी. यह निश्चित रूप से आपके हृदय स्वास्थ्य के लिए अच्छा है. जौ के पानी (Barley water) में भी शक्तिशाली एंटी-इंफ्लेमेटरी (Anti-inflammatory) गुण होते हैं और यह कई बीमारियों को दूर रख सकता है.

इसे अपने रक्त शर्करा के स्तर को बनाए रखने के लिए लें

जौ का पानी (Barley water) इंसुलिन प्रतिरोध में सुधार के लिए जाना जाता है. इसके विरोधी भड़काऊ गुण मधुमेह (Diabetes) रोगियों की भी मदद करते हैं. अगर आप टाइप 2 डायबिटीज के खतरे को कम करना चाहते हैं तो रोजाना एक गिलास पिएं. यदि आप मधुमेह (Diabetes) रोगी हैं तो आप अपने रक्त शर्करा (Blood sugar) के स्तर को कम करने के लिए भी इसका सेवन कर सकते हैं.

यह पाचन में सुधार करता है

आयुर्वेद के अनुसार जौ का पानी (Barley water) पाचक (Digestive) टॉनिक है. कब्ज और दस्त जैसे विभिन्न पाचन मुद्दों के इलाज के लिए आयुर्वेदिक चिकित्सकों द्वारा इसका व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है. यह पानी संक्रमण के दौरान शरीर के इलेक्ट्रोलाइट (Electrolyte) संतुलन को बहाल करने में भी मदद करता है. यह गैस्ट्रोएंटेराइटिस (Gastroenteritis) और हीट स्ट्रोक के लिए भी एक प्रभावी घरेलू उपचार है. यह पेट के लिए आसान है और कई खनिजों और विटामिनों में समृद्ध है.

यह शरीर को डिटॉक्सीफाई करता है

सुबह एक गिलास जौ का पानी (Barley water) पिएं. यह आपके शरीर को डिटॉक्सीफाई (Detoxify) करने में आपकी मदद करेगा. यह मूत्र पथ के माध्यम से शरीर और आंतों से विषाक्त पदार्थों (Toxins) को बाहर निकालता है. इस पानी के नियमित सेवन से शरीर की आंतरिक प्रणाली पर सफाई का प्रभाव पड़ेगा.

अब अपने लिए एक गिलास जौ का पानी तैयार करें

ऐसा करना आसान है. बस एक चौथाई कप जौ लें और उसमें 3 कप पानी डालें. इसे उबाल लें. आप देखेंगे कि पानी का रंग बदल रहा है. इसे 5 से 10 मिनट तक उबालें. आंच से उतार लें और ठंडा होने दें. छान कर एक गिलास में डालें. आप स्वाद के लिए इसमें एक चुटकी नमक, थोड़ा नींबू और शहद भी मिला सकते हैं. या आप इसे वैसे ही प्राप्त कर सकते हैं जैसे यह है.

ये भी पढ़े : लगातार ईयरफोन का इस्तेमाल करना सेहत के लिए खतरनाक, हो सकती हैं ये परेशानी

SHARE